उड़ी से भी बड़ा आतंकी हमला, CRPF के काफिले के 42 जवान शहीद

14 फरवरी, 2019. शाम के करीब 3 बजकर 20 मिनट हो रहे थे. इसी वक्त जम्मू -कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के एक बड़े काफिले पर हमला कर दिया. इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए. तमाम घायल हैं.



पुलवामा में अवंतीपोरा के गोरीपोरा इलाके में सीआरपीएफ की तीन बटालियनें 35, 54 और 179 जा रही थीं. करीब 70 गाड़ियों में 2500 से ज्यादा जवान थे. उनकी गाड़ियां हाईवे से गुजर रही थी.
loading...
इसी दौरान हाईवे पर एक कार खड़ी थी. पुलिस के मुताबिक कार IED से भरी थी और इस कार को CRPF के काफिले से टकरा दिया गया. जोरदार धमाका हुआ, जिसकी चपेट में आकर सेना की गाड़ी के चिथड़े उड़ गए. कई और गाड़ियां भी चपेट में आ गईं. कहा जा रहा है कि कुछ जवानों ने बचने की कोशिश की, तो आतंकियों ने उनपर फायरिंग कर दी और फरार हो गए. इस आतंकी हमले में करीब 50 से ज्यादा जवानों को गोली लगी.
जैश-ए-मोहम्मद ने ली जिम्मेदारी
कश्मीर के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस आतंकी घटना की जिम्मेदारी ली है. हमले के बाद पूरे दक्षिणी कश्मीर में हाई अलर्ट जारी किया है. फिलहाल अवंतिपोरा में सेना, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ की कई कंपनियां लगा दी गई हैं. इससे पहले भी सुरक्षा बलों को खुफिया एजेंसियों ने एक अलर्ट जारी किया था और कहा था कि IED ब्लास्ट हो सकता है. ये अलर्ट 8 फरवरी को जारी हुआ था. यानी कि संसद भवन पर हमले के दोषी अफजल गुरु और जेकेएलएफ के संस्थापक मोहम्मद मकबूल भट्ट की फांसी की बरसी से ठीक पहले. कहा गया था कि सुरक्षा बलों के आने-जाने के रास्तों पर धमाका हो सकता है. और इस अलर्ट के एक हफ्ते के बाद ही ये धमाका हो गया.
उड़ी से भी बड़ा आतंकी हमला
18 सितंबर, 2016 को उड़ी में हुए हमले से भी ये बड़ा आतंकी हमला है. उड़ी हमले में 19 जवान शहीद हुए थे. इसके अलावा चार आतंकी भी मारे गए थे. और अब इस हमले में अब तक 42 जवान शहीद हो चुके हैं. घाटी के न्यूज़ चैनलों को दिए गए एक बयान में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रवक्ता ने बताया है कि इस आतंकी हमले को अंजाम उसके ही संगठन ने दिया है. हमले के लिए जिस गाड़ी का इस्तेमाल किया गया, उसे चलाने वाले का नाम आदिल अहमद उर्फ वकास कमांडो है. वो पुलवामा के गुंडी बाग का रहने वाला है.
एक ही दिन पहले खुला था हाईवे
कश्मीर में पिछले दिनों भारी बर्फबारी हुई थी. इसकी वजह से श्रीनगर-जम्मू कश्मीर नेशनल हाईवे बंद कर दिया गया था. ये नेशनल हाईवे कश्मीर घाटी को देश के दूसरे हिस्से से जुड़ता था. एक हफ्ते की बर्फबारी के खत्म होने के बाद 13 फरवरी को इस हाईवे को खोला गया था. 14 फरवरी को इसी हाईवे पर CRPF की बटालियन 35, बटालियन 54 और बटालियन 179 जा रही थी.
loading...

गुरुनानक जयंती से 1 दिन पहले केंद्र सरकार का बड़ा ऐलान, बनेगा करतारपुर कॉरीडोर

केंद्र सरकार ने गुरुनानक जयंती से एक दिन पहले बड़ी घोषणा की है। सरकार ने करतारपुर कॉरीडोर के निर्माण का ऐलान किया है।

गुरुनानक जयंती से एक दिन पहले केंद्र सरकार ने करतारपुर साहिब कॉरीडोर पर बड़ा ऐलान किया है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को ट्वीट कर बताया कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इसे मंजूरी दे दी है। कॉरीडोर का निर्माण पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक से पाकिस्‍तान के साथ लगने वाली अंतरराष्‍ट्रीय सीमा तक किया जाएगा। इसके निर्माण के लिए फंडिंग केंद्र सरकार करेगी और यह तमाम आधुनिक सुविधाओं से लैस होगी।
loading...

केंद्रीय गृह मंत्री ने यह भी बताया कि भारत सरकार ने 2019 में श्री गुरुनानक देव की 550वीं जयंती देश-दुनिया में व्‍यापक पैमाने पर मनाने का फैसला किया है। आगामी आम चुनाव से पहले केंद्र सरकार की इस घोषणा को राजनीतिक दृष्टिकोण से काफी अहम माना जा रहा है। पाकिस्‍तान के पंजाब प्रांत में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब करतार सिख श्रद्धालुओं के बीच बेहद खास है। भारत में रहने वाले लाखों सिख श्रद्धालु पाकिस्‍तान के साथ लगने वाली अंतरराष्‍ट्रीय सीमा पर पहुंच दूरबीन के जरिये इस गुरुद्वारे की एक झलक पाने की कोशिश करते हैं।

करतारपुर कॉरीडोर बन जाने से श्रद्धालुओं के लिए पवित्र गुरुद्वारा दरबार साहिब करतार पहुंचना आसान हो जाएगा। केंद्रीय गृह मंत्री ने यह भी कहा कि इसके लिए पाकिस्‍तान से बात की जाएगी और उससे भी अंतराष्‍ट्रीय सीमा तक अपने क्षेत्र में ऐसा ही कॉरीडोर बनाने के लिए कहा जाएगा।

राजनाथ सिंह ने जहां ट्विटर पर इसकी जानकारी दी, वहीं बाद में केंद्रीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर कैबिनेट के अहम फैसलों से अवगत कराया। उन्‍होंने पंजाब के कपूरथला जिले में स्थित ऐतिहासिक सुल्‍तानपुर लोधी शहर को 'स्‍मार्ट सिटी' के सिद्धांतों के आधार पर धरोहर शहर (हेरीटेज टाउन) के रूप में विकसित करने की बात भी कही।

loading...

न्यूनतम वेतनः 1 नवंबर से मिलेगी बढ़ी हुई सैलरी, कम देने वाले मालिकों को होगी तीन साल की सजा

दिल्ली सरकार ने गुरुवार को कहा कि कुशल, अकुशल और अर्ध-कुशल मजदूरों को एक नवंबर से बढ़ा हुआ न्यूनतम वेतन मिलेगा। सर्वोच्च न्यायालय द्वारा मंजूरी दिए जाने के बाद सरकार ने यह घोषणा की है। श्रम मंत्री गोपाल राय ने कहा, 'संशोधित वेतनमान के मुताबिक, अकुशल श्रेणी को 14 हजार रुपए, अर्धकुशल को 15,400 रुपए और कुशल श्रेणी को 16,962 रुपए प्रति माह मिलेंगे।'
loading...
राय ने यह भी कहा कि उनका विभाग न्यूनतम वेतन अधिनियम संशोधनों के बारे में मजदूरों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए 10 नवंबर से एक अभियान शुरू करेगा। इन संशोधनों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा मई माह में मंजूरी दे दी गई थी। कोविंद ने न्यूनतम वेतन अधिनियम में संशोधन करने वाले दिल्ली सरकार के प्रस्तावित विधेयक को अपनी मंजूरी दे दी थी, जिसके तहत शहर में श्रम नियमों का उल्लंघन करने पर नियोक्ता को 50 हजार रुपए जुर्माना और तीन साल कैद की सजा हो सकती है।
राय ने कहा, 'अधिनियम में नियम कमजोर थे और इसलिए न्यूनतम वेतन अधिनियम को लागू करना मुश्किल था। अब अदालत के आदेश के साथ हम न्यूनतम वेतन को बहाल करेंगे और लोगों के बीच जागरूकता फैलाएंगे। इसके लिए हम 10 से 30 नवंबर के बीच एक अभियान चलाएंगे। 10 दिसंबर तक कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। हम 10 से 12 विशेष टास्क फोर्स गठित करेंगे। ये टीमें 10 दिसंबर के बाद छापे मारेंगी और वितरित किए जा रहे वेतन को जांचेंगी।'
सरकार नियमों के उल्लंघन पर 10 दिसंबर के बाद संगठनों और नियोक्ताओं पर जुर्माना लगाएगी। राय ने कहा, 'हम न्यूनतम वेतन की फिर से गणना करने पर काम कर रहे हैं। जनवरी अंत तक हम शीर्ष अदालत में हमारी रिपोर्ट दाखिल करेंगे और उसके बाद वेतन पर नई अधिसूचना जारी की जाएगी।'
loading...

मोदी सरकार दे रही है दिवाली पर तोहफा, रजिस्टर करके कमाए 5000 रुपए

इस बार मोदी सरकार ने सभी देशवासियों को खुश करने के लिए एक स्कीम निकाली है| जिसके तहत सभी केयर गांव में 5000-5000 रुपए डाले जाएंगे| यह राशि आपके जन धन बैंक खाते में जमा की जाएगी| यदि आप का जन धन खाता नहीं है तो तुरंत खुलवाएं|
loading...

यह ऑफर दिवाली तक उपलब्ध है| इस ऑफर को पाने के लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स में अपना मोबाइल नंबर लिखें| सभी लोगों में इस ऑफर को जाने के बाद बहुत ज्यादा उत्साह दिखाई दे रहा है|
loading...

अधिक से अधिक लोगों के साथ इसे शेयर करें| बाकी सब लोग इस ऑफर का फायदा उठा सकें| आपकी जानकारी के लिए एक बार और बता दें कि इस ऑफर को प्राप्त करने के लिए आपका बैंक अकाउंट होना बहुत ही जरूरी है|

रिलायंस JIO दे रहा तगड़ी कमाई करने का मौका, हर महीने कमाएं 25-30 हजार रुपए! हाथ से न जानें दें मौका

जियो ने एक बार फिर पिटारा खोल दिया है। जिसका फायदा जियो यूजर्स को तो मिलेगा ही, लेकिन पहले ऐसे लोगों को मिलेगा, जो फिलहाल किसी अच्छे जॉब की तलाश कर रहे हैं। दरअसल, जियो ने अपना नेटवर्क और ज्यादा बढ़ाने के लिए सागर संभाग क्षेत्र में सौ से अधिक टॉवर बढ़ाने जा रहा हैं। ऐसे में जियो ऑफीसर्स द्वारा टॉवर के लिए ऐसी जगहों को चिन्हित किया जाने लगा है, जहां टॉवर लगाए जाने हैं। इसके साथ ही नजदीकी शहर दमोह, छतरपुर और टीकमगढ़ में भी मोबाइल रिटेलर्स से टॉवर्स के लिए जानकारियां एकत्रित की जाने लगी हैं। इसके लिए हमें मोबाइल टॉवर एक्सपर्ट अभिषेक जैन से चर्चा की। इन्होंने भी इसकी जानकारी सांझा की।
loading...

 
जियो इस बार उन लोगों को 25से 30हजार रुपए तक कमाने का मौका दे रहा हैं, जिन्हें लंबे समय से जॉब की तलाश थी। ऐसे लोगों को रिलायंस जियो लोगों को पैसा कमाने का एक शानदार मौका दे रही है। दरसअल, रिलायंस जियो पूरे देश में करीब 65 हजार मोबाइल टावर लगाने की योजना बना रहा है।

 
इसी के तहत सागर संभाग के सागर, दमोह, छतरपुर, टीमकगढ़ और बीना में भी 150 से अधिक टॉवर लगाए जाना है। इसकी जानकारी स्थानीय स्तर पर किए जा रहे सर्वे से सामने आ रही है। वहीं जियो मोबाइल और सिम रिटेलर्स भी इसकी जानकारी सांझा करते नजर आ रहे है। यहां आपको यह भी जानकारी दे दूं कि मौजूदा समय में कंपनी के पूरे देश में करीब 1 लाख मोबाइल टावर हैंए लेकिन अब कंपनी इनकी संख्या को बढ़ाकर दोगुना करना चाहती है। आप भी मोबाइल टावर लगवा कर पैसे कमा सकते है |
loading...
 

लाभ के लिए यह करना होगा

मोबाइल कंपनियां टावर लगाने के लिए प्राइवेट कंपनियों को कॉन्ट्रैक्ट देती हैं। जिनके माध्यम से टॉवर लगाने की पूरी प्रोसेस होती है। वैसे तो जियो की वेबसाइट पर इसे लेकर पूरी डीटेल और नियम शर्तों को उल्लेख किया गया है। जिसे पढऩे के बाद ही आप अपनी जमीन पर मोबाइल टॉवर्स लगवाने के लिए समहति व्यक्ति करें। आप मोबाइल टावर अपनी जमीन या छत पर लगवा सकते हैं। इसके लिए आपको टावर लगाने वाली कंपनियों की वेबसाइट पर जाना होगा और आपको एक लिंक मिलेगा जहां पर आप अपनी जानकारी भर सकते हैं।

 
 शेयर करना होगी पर्सनल डीटेल

जैसे ही आप जियो की वेबसाइट पर टॉवर संबंधी लिंक पर क्लिक करते हैं तो आपके सामने एक सब्क्रिप्शन फॉर्म ओपन होगा। जिसमें आपको अपना नाम, पता, प्रापर्टी डीटेल के अलावा अन्य सामान्य जानकारियों को साझा करना होगा। इसके अलावा यह भी महत्वपूर्ण रूप से बताया होगा कि आपने टॉवर के लिए कौन सी जगह का चयन किया है। यह जगह ग्राउंड फ्लोर या रूफ एरिया हो सकता है। उस प्रॉपर्टी की ओनरशिप आपके नाम पर है या फिर ज्वाइंट ओनरशिप है। प्रॉपर्टी रेसिडेंशियल है या फिर कमर्शियल यह भी आपको क्लीयर करना होगा।


 सब कुछ सही तो अब इसे पढ़ें

अब आप जियो पर टॉवर लगवाने के लिए अपना रजिस्टे्रशन करा चुके हैं। ऐसे में अब ऐसी जानकारी आपको देना होगी, जिससे कि टॉवर लगाया जा सके। यानि स्पष्ट है कि आपको अपनी जमीन की साइट को क्लियर करना होगा। अगर आप अपनी छत पर टावर लगवाना चाहते हैं तो आपके पास कम से कम 500 वर्ग फुट जगह होनी चाहिए। जमीन पर टावर लगवाने के लिए कम से कम 2000 वर्ग फुट की जगह होनी जरूरी है। अगर आपके पास इतनी जगह है तो आप भी रिलायंस जियो का टावर लगवा सकते हैं।


हर महीने आपके अकाउंट में आने लगेगी इतनी रकम

हर मानक पर आपके सफल होने के बाद अब जियो और संबंधित कंपनी द्वारा आपके क्षेत्र का मुआयना कर जगह का मुआयना व परीक्षण किया जाएगा। इसके बाद यह तय किया जाएगा कि यहां टॉवर लगाना अनुकूल हैं या नहीं। जैसे ही इंजीनियर्स हरी झंडी देते है आपके साथ कांट्रेक्ट साइन किया जाएगा और बाद में मोबाइल टावर लगवाने पर मोबाइल ऑपरेटर कंपनियां हर महीने एक निश्चित पैसा मिलने लगेगा। जो शहरों में अमूमन 25 से 30 हजार रुपए तक होता है। वहीं दूसरी ओर, अगर आप ये टावर शहर की किसी बेहतर जगह पर होता है तो पैसे और भी अधिक मिल सकते हैं। जियो की ओर से कहा गया है कि कंपनी अलग.अलग जगह के हिसाब से अलग-अलग पैसे देती है,जो सर्वे के बाद तय किया जाता है।


यह भी हैं खास बिंदु, शॉर्ट में समझ लें

अगर टॉवर लगवाने के लिए आपका करार हो जाता हैं तो सारा का सारा खर्चा कंपनी की तरफ से ही किया जाएगा। इसके लिए आपको एक भी रुपए खर्च नहीं करना होगा। कंपनी खुद ही सब कुछ करेगी और आपको हर महीने आपकी जगह के बदले पैसे देती रहेगी। 
-आपको कुछ दस्तावेज कंपनी को देने होंगे। इनमें जहां टावर लगवाना चाहते हैं उस लैंड पेपर की जिराक्स कॉपी, एनओसी के पेपर,लैंड सर्वे रिपोर्ट,अपना आईडी एड्रेस पूंफ जैसे दस्तावेज जमा करनें होंगे। 

यहां मिलेगी पूरी जानकारी

कंपनी से संपर्क करने के लिए आप रिलायंस जियो टावर्स की वेबसाइट (www.reliancejiotowers.com)

पर जा सकते हैं। वहां पर आपको संपर्क करने के लिए ईमेल आईडी info@reliancejiotowers.com और फोन नंबर 022.39528355 मिल जाएगा। आप स्थानीय स्तर पर जियो कार्यालय से भी अन्य अपडेट वेबसाइट और नंबर प्राप्त कर सकते है। स्थानीय जियो अधिकारियों से भी संपर्क किया जा सकता है।

विजय माल्या के दावे के बाद बढ़ी मोदी सरकार की मुश्किलें,राहुल गांधी ने मांगा अरुण जेठली का इस्तीफा

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या द्वारा लंदन की अदालत में दिए बयान के बाद भारत की राजनीति में भूचाल मच गया है. विजय माल्या ने वेस्टमिंस्टर की कोर्ट में कहा कि भारत छोड़ने से पहले उन्होंने वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की थी और बैंकों से लिए कर्ज के सेटलमेंट की बात कही थी.

इस बयान के बाद कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने मोदी सरकार पर कड़ा हमला बोला है. कांग्रेस ने सरकार से मांग की है कि वह इस मुद्दे पर जनता के सामने आकर अपना पक्ष रखे. कांग्रेस ने वित्त मंत्री अरुण जेटली से इस्तीफा देने की मांग की.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि लंदन में विजय माल्या द्वारा किए गए दावे को लेकर प्रधानमंत्री को स्वतंत्र जांच के आदेश देने चाहिए. उन्होंने अपने एक ट्वीट संदेश में कहा,
loading...

 ‘आज लंदन में विजय माल्या के बेहद गंभीर आरोपों को देखते हुए प्रधानमंत्री को इस मामले में तुरंत स्वतंत्र जांच का आदेश देना चाहिए. जब तक जांच चले अरुण जेटली को वित्त मंत्री का पद छोड़ देना चाहिए.’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया ने तो यहां तक कहा कि उन्होंने विजय माल्या और अरुण जेटली को संसद के सेंट्रल हाल में आपस में बातचीत करते हुए देखा था. पुनिया ने कहा कि इस बात पुष्टि संसद में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज से की जा सकती है,

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने कहा कि विजय माल्या एक सांसद थे और माल्या के सांसद बनने के पीछे अरुण जेटली की पार्टी की अहम भूमिका रही है.

उन्होंने कहा कि अगर माल्या ने वित्त मंत्री के सामने कोई प्रस्ताव भी रखा था तो उस बात को वित्त मंत्री के सामने सभी के सामने रखना चाहिए था. और माल्या को बताना चाहिए था कि यह हमें (सरकार को) तय करने दें कि इस मामले को कैसे आगे ले जाना है. सलमान खुर्शीद ने कहा कि ये वे तथ्य हैं जो एक ऐसा व्यक्ति दे रहा है, जो इस समय देश में नहीं है.

कांग्रेस के एक अन्य वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा कि विजय माल्या हमारे देश के बैंकों को लूट कर भाग गया. सरकार को इसकी जानकारी थी. इसलिए जब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में माल्या के मुद्दे पर बयान दिया तो उन्हें इस मुलाकात के बारे में संसद को बताना चाहिए था. इस बारे में अब अरुण जेटली ही बता सकते हैं कि उन्होंने इस मुलाकात के बारे में किसी को क्यों नहीं बताया.

पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने सवाल किया कि माल्या के बारे में सब कुछ पता होने के बावजूद उसे देश के बाहर क्यों जाने दिया गया? उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस बार-बार कहती आ रही है माल्या,

नीरव मोदी और कई अन्य लोगों को जानबूझकर बाहर जाने दिया गया. माल्या ने जो कहा है उस पर वित्त मंत्री की तरफ से और स्पष्ट एवं विस्तृत जवाब आना चाहिए.’

सिंघवी ने कहा, ‘‘माल्या ने दो चीजे कही हैं. पहली कि उसने वित्त मंत्री से व्यवस्थित ढंग से मुलाकात की थी और दूसरी यह कि उसने मामले को सुलझाने की पेशकश की थी. इस मामले का पूरा खुलासा होना चाहिए. व्यापक स्पष्टीकरण आना चाहिए और व्यापक जांच होनी चाहिए.’

कांग्रेस नेता ने सवाल किया, ‘जब बैंकों को मालूम था, वित्त मंत्रालय को मालूम था, पूरी सरकार को मालूम था और माननीय प्रधानमंत्री को मालूम था कि माल्या पर इतना बड़ा कर्ज बकाया है. ऐसे में उसे देश से बाहर क्यों जाने दिया गया. यह बुनियादी सवाल है जिसका उत्तर पूरा देश जानना चाहता है.’

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘भगोड़ों का साथ, लुटेरों का विकास’ बीजेपी का एकमात्र लक्ष्य है. उन्होंने कहा, ‘मोदी जी, आपने ललित मोदी, नीरव मोदी ‘हमारे मेहुल भाई’,

अमित भटनागर जैसों को देश के करोड़ों रुपये लुटवा, विदेश भगा दिया. विजय माल्या, तो श्री अरुण जेटली से मिलकर ,विदाई लेकर, देश का पैसा लेकर भाग गया है? चौकीदार नहीं,भागीदार है!’

उधर, अरुण जेटली ने माल्या के बयान के बाद कहा कि माल्या राज्यसभा सदस्य के तौर पर हासिल विशेषाधिकार का दुरुपयोग करते हुए संसद-भवन के गलियारे में उनके पास आ गया था.
loading...

MNS भी आई कांग्रेस के साथ, कल मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस का भारत बंद


कल मोदी सरकार के खिलाफ भारत बंद के साथ जबरदस्त प्रदर्शन होने वाला है और इसको लेकर सभी विपक्षी पार्टियां एक साथ आ रही हैं। कांग्रेस ने इस विरोध को लेकर आवाज मुखर की थी जिसमे अब एमएनएस भी साथ आ गई है।
loading...

गौरतलब है कि, पिछले कई दिनों से भारतीय रुपये में काफी अधिक गिरावट देखने को मिली है। वहीं कुछ दिनों से देश भर में पेट्रोल और डीजल की कीमतों ने भी रिकॉर्ड आकड़ा पार करते हुए लोगों की कमर तोड़ने वाला काम किया है। ऐसे में डॉलर के मुकाबले रुपये के कमजोर होने और पेट्रोल की कीमतों का आसमान छूना मोदी सरकार की कड़ी आलोचना का सबब बन गया है। कांग्रेस लगातार मोदी सरकार का विरोध कर रही थी जिसमे अब उसको एमएनएस (महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना) का भी साथ मिल गाय है। कल 10 सितंबर को देश भर में भारत बंद करेंगे जिसमे उनके साथ राज्यवर पार्टियां भी शामिल हैं। इनमें आरजेडी, समाजवादी पार्टी, एमएनएस समेत कई शामिल हैं। बताया जा रहा है कि, दिल्ली के सीएम केजरीवाल भी इसमें शामिल हो सकते हैं।

तो ऐसे में अब एक बार फिर देश में भारत बंद होने जा रह है और इस बार कोई आरक्षण की मांग को लेकर यह बंद नहीं कर रहे है बल्की कांग्रेस पार्टी मोदी सरकार के विरोध में यह प्रदर्शन होने जा रहा है जिसमे देश की कई बड़ी पार्टियां शनील होंगी। इसमें सीपीआई, आरजेडी, समाजवादी पार्टी से लेकर कई अन्य बड़ी राज्यवर पार्टियों के शामिल होने की बात सामने आई है।
loading...

उड़ी से भी बड़ा आतंकी हमला, CRPF के काफिले के 42 जवान शहीद

14 फरवरी, 2019. शाम के करीब 3 बजकर 20 मिनट हो रहे थे. इसी वक्त जम्मू -कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के एक बड़े काफिले पर हमल...