ताज महल का वो दरवाजा जिसके पीछे का राज जानने से डरती है भारत सरकार,जानोगे तो आप भी हिल जाओगे


भारत की शान और सात अजूबों में शुमार ताज अपने अंदर कई रहस्यों को दबाए हुए है। ताज महल को लेकर ऐसे दावे किए जाते रहे हैं कि ताज महल मकबरा न होकर हिन्दू शिव मन्दिर है। 

इतना ही नहीं, आज भी ताज महल के बहुत से कमरे शाहजहां के काल से बंद पड़े है, जो आम लोगों की पहुंच से परे हैं। शोधकर्ताओं की नाने तो ताज महल के नीचे 1000 से भी ज्यादा कमरे हैं।साथ ही, ये दावा किया जाता है कि ताज महल से बाहर निकलने के लिए भी एक रहस्यमयी दरवाजा है।
loading...

जिसे शाहजंह के समय से ही ईटों से बंद करवा दिया गया। ऐसे में ये सवाल उठता है कि भला इन कमरों को आखिर बंद करवाने की जरूरत क्यों पड़ी। इस पर कई शोधकर्ताओं के अपने अपने तर्क हैं। जिनकी मानें तो कमरे में मुमताज की कब्र को रखा गया है। जिसे गवर्नमेट ने बंद करवाया। वहीं, कुछ पुरातत्वविदों ने दावा किया कि इस जगह पर पहले एक ताजुम्हाल्या नाम का शिव मन्दिर था। 

लेकिन अब एक नई कोंस्पिरेसी की माने तो इन तहखानों के नीचे खजाना है जिसकी पुष्टि मेटल डिटेक्टर में हुई है। इनमे से कई दरवाजे खुले, लेकिन बाद में बंद कर दिए गए। जिसके बाद ये रहस्य अब भी कायम हैं कि इन दरवाजों के पीछे आखिर क्या है जिसे जानने से सरकारे भी डरती है। 
loading...

No comments:

Post a Comment

उड़ी से भी बड़ा आतंकी हमला, CRPF के काफिले के 42 जवान शहीद

14 फरवरी, 2019. शाम के करीब 3 बजकर 20 मिनट हो रहे थे. इसी वक्त जम्मू -कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के एक बड़े काफिले पर हमल...