रिलायंस JIO दे रहा तगड़ी कमाई करने का मौका, हर महीने कमाएं 25-30 हजार रुपए! हाथ से न जानें दें मौका

जियो ने एक बार फिर पिटारा खोल दिया है। जिसका फायदा जियो यूजर्स को तो मिलेगा ही, लेकिन पहले ऐसे लोगों को मिलेगा, जो फिलहाल किसी अच्छे जॉब की तलाश कर रहे हैं। दरअसल, जियो ने अपना नेटवर्क और ज्यादा बढ़ाने के लिए सागर संभाग क्षेत्र में सौ से अधिक टॉवर बढ़ाने जा रहा हैं। ऐसे में जियो ऑफीसर्स द्वारा टॉवर के लिए ऐसी जगहों को चिन्हित किया जाने लगा है, जहां टॉवर लगाए जाने हैं। इसके साथ ही नजदीकी शहर दमोह, छतरपुर और टीकमगढ़ में भी मोबाइल रिटेलर्स से टॉवर्स के लिए जानकारियां एकत्रित की जाने लगी हैं। इसके लिए हमें मोबाइल टॉवर एक्सपर्ट अभिषेक जैन से चर्चा की। इन्होंने भी इसकी जानकारी सांझा की।
loading...

 
जियो इस बार उन लोगों को 25से 30हजार रुपए तक कमाने का मौका दे रहा हैं, जिन्हें लंबे समय से जॉब की तलाश थी। ऐसे लोगों को रिलायंस जियो लोगों को पैसा कमाने का एक शानदार मौका दे रही है। दरसअल, रिलायंस जियो पूरे देश में करीब 65 हजार मोबाइल टावर लगाने की योजना बना रहा है।

 
इसी के तहत सागर संभाग के सागर, दमोह, छतरपुर, टीमकगढ़ और बीना में भी 150 से अधिक टॉवर लगाए जाना है। इसकी जानकारी स्थानीय स्तर पर किए जा रहे सर्वे से सामने आ रही है। वहीं जियो मोबाइल और सिम रिटेलर्स भी इसकी जानकारी सांझा करते नजर आ रहे है। यहां आपको यह भी जानकारी दे दूं कि मौजूदा समय में कंपनी के पूरे देश में करीब 1 लाख मोबाइल टावर हैंए लेकिन अब कंपनी इनकी संख्या को बढ़ाकर दोगुना करना चाहती है। आप भी मोबाइल टावर लगवा कर पैसे कमा सकते है |
loading...
 

लाभ के लिए यह करना होगा

मोबाइल कंपनियां टावर लगाने के लिए प्राइवेट कंपनियों को कॉन्ट्रैक्ट देती हैं। जिनके माध्यम से टॉवर लगाने की पूरी प्रोसेस होती है। वैसे तो जियो की वेबसाइट पर इसे लेकर पूरी डीटेल और नियम शर्तों को उल्लेख किया गया है। जिसे पढऩे के बाद ही आप अपनी जमीन पर मोबाइल टॉवर्स लगवाने के लिए समहति व्यक्ति करें। आप मोबाइल टावर अपनी जमीन या छत पर लगवा सकते हैं। इसके लिए आपको टावर लगाने वाली कंपनियों की वेबसाइट पर जाना होगा और आपको एक लिंक मिलेगा जहां पर आप अपनी जानकारी भर सकते हैं।

 
 शेयर करना होगी पर्सनल डीटेल

जैसे ही आप जियो की वेबसाइट पर टॉवर संबंधी लिंक पर क्लिक करते हैं तो आपके सामने एक सब्क्रिप्शन फॉर्म ओपन होगा। जिसमें आपको अपना नाम, पता, प्रापर्टी डीटेल के अलावा अन्य सामान्य जानकारियों को साझा करना होगा। इसके अलावा यह भी महत्वपूर्ण रूप से बताया होगा कि आपने टॉवर के लिए कौन सी जगह का चयन किया है। यह जगह ग्राउंड फ्लोर या रूफ एरिया हो सकता है। उस प्रॉपर्टी की ओनरशिप आपके नाम पर है या फिर ज्वाइंट ओनरशिप है। प्रॉपर्टी रेसिडेंशियल है या फिर कमर्शियल यह भी आपको क्लीयर करना होगा।


 सब कुछ सही तो अब इसे पढ़ें

अब आप जियो पर टॉवर लगवाने के लिए अपना रजिस्टे्रशन करा चुके हैं। ऐसे में अब ऐसी जानकारी आपको देना होगी, जिससे कि टॉवर लगाया जा सके। यानि स्पष्ट है कि आपको अपनी जमीन की साइट को क्लियर करना होगा। अगर आप अपनी छत पर टावर लगवाना चाहते हैं तो आपके पास कम से कम 500 वर्ग फुट जगह होनी चाहिए। जमीन पर टावर लगवाने के लिए कम से कम 2000 वर्ग फुट की जगह होनी जरूरी है। अगर आपके पास इतनी जगह है तो आप भी रिलायंस जियो का टावर लगवा सकते हैं।


हर महीने आपके अकाउंट में आने लगेगी इतनी रकम

हर मानक पर आपके सफल होने के बाद अब जियो और संबंधित कंपनी द्वारा आपके क्षेत्र का मुआयना कर जगह का मुआयना व परीक्षण किया जाएगा। इसके बाद यह तय किया जाएगा कि यहां टॉवर लगाना अनुकूल हैं या नहीं। जैसे ही इंजीनियर्स हरी झंडी देते है आपके साथ कांट्रेक्ट साइन किया जाएगा और बाद में मोबाइल टावर लगवाने पर मोबाइल ऑपरेटर कंपनियां हर महीने एक निश्चित पैसा मिलने लगेगा। जो शहरों में अमूमन 25 से 30 हजार रुपए तक होता है। वहीं दूसरी ओर, अगर आप ये टावर शहर की किसी बेहतर जगह पर होता है तो पैसे और भी अधिक मिल सकते हैं। जियो की ओर से कहा गया है कि कंपनी अलग.अलग जगह के हिसाब से अलग-अलग पैसे देती है,जो सर्वे के बाद तय किया जाता है।


यह भी हैं खास बिंदु, शॉर्ट में समझ लें

अगर टॉवर लगवाने के लिए आपका करार हो जाता हैं तो सारा का सारा खर्चा कंपनी की तरफ से ही किया जाएगा। इसके लिए आपको एक भी रुपए खर्च नहीं करना होगा। कंपनी खुद ही सब कुछ करेगी और आपको हर महीने आपकी जगह के बदले पैसे देती रहेगी। 
-आपको कुछ दस्तावेज कंपनी को देने होंगे। इनमें जहां टावर लगवाना चाहते हैं उस लैंड पेपर की जिराक्स कॉपी, एनओसी के पेपर,लैंड सर्वे रिपोर्ट,अपना आईडी एड्रेस पूंफ जैसे दस्तावेज जमा करनें होंगे। 

यहां मिलेगी पूरी जानकारी

कंपनी से संपर्क करने के लिए आप रिलायंस जियो टावर्स की वेबसाइट (www.reliancejiotowers.com)

पर जा सकते हैं। वहां पर आपको संपर्क करने के लिए ईमेल आईडी info@reliancejiotowers.com और फोन नंबर 022.39528355 मिल जाएगा। आप स्थानीय स्तर पर जियो कार्यालय से भी अन्य अपडेट वेबसाइट और नंबर प्राप्त कर सकते है। स्थानीय जियो अधिकारियों से भी संपर्क किया जा सकता है।

विजय माल्या के दावे के बाद बढ़ी मोदी सरकार की मुश्किलें,राहुल गांधी ने मांगा अरुण जेठली का इस्तीफा

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या द्वारा लंदन की अदालत में दिए बयान के बाद भारत की राजनीति में भूचाल मच गया है. विजय माल्या ने वेस्टमिंस्टर की कोर्ट में कहा कि भारत छोड़ने से पहले उन्होंने वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की थी और बैंकों से लिए कर्ज के सेटलमेंट की बात कही थी.

इस बयान के बाद कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने मोदी सरकार पर कड़ा हमला बोला है. कांग्रेस ने सरकार से मांग की है कि वह इस मुद्दे पर जनता के सामने आकर अपना पक्ष रखे. कांग्रेस ने वित्त मंत्री अरुण जेटली से इस्तीफा देने की मांग की.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि लंदन में विजय माल्या द्वारा किए गए दावे को लेकर प्रधानमंत्री को स्वतंत्र जांच के आदेश देने चाहिए. उन्होंने अपने एक ट्वीट संदेश में कहा,
loading...

 ‘आज लंदन में विजय माल्या के बेहद गंभीर आरोपों को देखते हुए प्रधानमंत्री को इस मामले में तुरंत स्वतंत्र जांच का आदेश देना चाहिए. जब तक जांच चले अरुण जेटली को वित्त मंत्री का पद छोड़ देना चाहिए.’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया ने तो यहां तक कहा कि उन्होंने विजय माल्या और अरुण जेटली को संसद के सेंट्रल हाल में आपस में बातचीत करते हुए देखा था. पुनिया ने कहा कि इस बात पुष्टि संसद में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज से की जा सकती है,

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने कहा कि विजय माल्या एक सांसद थे और माल्या के सांसद बनने के पीछे अरुण जेटली की पार्टी की अहम भूमिका रही है.

उन्होंने कहा कि अगर माल्या ने वित्त मंत्री के सामने कोई प्रस्ताव भी रखा था तो उस बात को वित्त मंत्री के सामने सभी के सामने रखना चाहिए था. और माल्या को बताना चाहिए था कि यह हमें (सरकार को) तय करने दें कि इस मामले को कैसे आगे ले जाना है. सलमान खुर्शीद ने कहा कि ये वे तथ्य हैं जो एक ऐसा व्यक्ति दे रहा है, जो इस समय देश में नहीं है.

कांग्रेस के एक अन्य वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा कि विजय माल्या हमारे देश के बैंकों को लूट कर भाग गया. सरकार को इसकी जानकारी थी. इसलिए जब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में माल्या के मुद्दे पर बयान दिया तो उन्हें इस मुलाकात के बारे में संसद को बताना चाहिए था. इस बारे में अब अरुण जेटली ही बता सकते हैं कि उन्होंने इस मुलाकात के बारे में किसी को क्यों नहीं बताया.

पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने सवाल किया कि माल्या के बारे में सब कुछ पता होने के बावजूद उसे देश के बाहर क्यों जाने दिया गया? उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस बार-बार कहती आ रही है माल्या,

नीरव मोदी और कई अन्य लोगों को जानबूझकर बाहर जाने दिया गया. माल्या ने जो कहा है उस पर वित्त मंत्री की तरफ से और स्पष्ट एवं विस्तृत जवाब आना चाहिए.’

सिंघवी ने कहा, ‘‘माल्या ने दो चीजे कही हैं. पहली कि उसने वित्त मंत्री से व्यवस्थित ढंग से मुलाकात की थी और दूसरी यह कि उसने मामले को सुलझाने की पेशकश की थी. इस मामले का पूरा खुलासा होना चाहिए. व्यापक स्पष्टीकरण आना चाहिए और व्यापक जांच होनी चाहिए.’

कांग्रेस नेता ने सवाल किया, ‘जब बैंकों को मालूम था, वित्त मंत्रालय को मालूम था, पूरी सरकार को मालूम था और माननीय प्रधानमंत्री को मालूम था कि माल्या पर इतना बड़ा कर्ज बकाया है. ऐसे में उसे देश से बाहर क्यों जाने दिया गया. यह बुनियादी सवाल है जिसका उत्तर पूरा देश जानना चाहता है.’

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘भगोड़ों का साथ, लुटेरों का विकास’ बीजेपी का एकमात्र लक्ष्य है. उन्होंने कहा, ‘मोदी जी, आपने ललित मोदी, नीरव मोदी ‘हमारे मेहुल भाई’,

अमित भटनागर जैसों को देश के करोड़ों रुपये लुटवा, विदेश भगा दिया. विजय माल्या, तो श्री अरुण जेटली से मिलकर ,विदाई लेकर, देश का पैसा लेकर भाग गया है? चौकीदार नहीं,भागीदार है!’

उधर, अरुण जेटली ने माल्या के बयान के बाद कहा कि माल्या राज्यसभा सदस्य के तौर पर हासिल विशेषाधिकार का दुरुपयोग करते हुए संसद-भवन के गलियारे में उनके पास आ गया था.
loading...

MNS भी आई कांग्रेस के साथ, कल मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस का भारत बंद


कल मोदी सरकार के खिलाफ भारत बंद के साथ जबरदस्त प्रदर्शन होने वाला है और इसको लेकर सभी विपक्षी पार्टियां एक साथ आ रही हैं। कांग्रेस ने इस विरोध को लेकर आवाज मुखर की थी जिसमे अब एमएनएस भी साथ आ गई है।
loading...

गौरतलब है कि, पिछले कई दिनों से भारतीय रुपये में काफी अधिक गिरावट देखने को मिली है। वहीं कुछ दिनों से देश भर में पेट्रोल और डीजल की कीमतों ने भी रिकॉर्ड आकड़ा पार करते हुए लोगों की कमर तोड़ने वाला काम किया है। ऐसे में डॉलर के मुकाबले रुपये के कमजोर होने और पेट्रोल की कीमतों का आसमान छूना मोदी सरकार की कड़ी आलोचना का सबब बन गया है। कांग्रेस लगातार मोदी सरकार का विरोध कर रही थी जिसमे अब उसको एमएनएस (महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना) का भी साथ मिल गाय है। कल 10 सितंबर को देश भर में भारत बंद करेंगे जिसमे उनके साथ राज्यवर पार्टियां भी शामिल हैं। इनमें आरजेडी, समाजवादी पार्टी, एमएनएस समेत कई शामिल हैं। बताया जा रहा है कि, दिल्ली के सीएम केजरीवाल भी इसमें शामिल हो सकते हैं।

तो ऐसे में अब एक बार फिर देश में भारत बंद होने जा रह है और इस बार कोई आरक्षण की मांग को लेकर यह बंद नहीं कर रहे है बल्की कांग्रेस पार्टी मोदी सरकार के विरोध में यह प्रदर्शन होने जा रहा है जिसमे देश की कई बड़ी पार्टियां शनील होंगी। इसमें सीपीआई, आरजेडी, समाजवादी पार्टी से लेकर कई अन्य बड़ी राज्यवर पार्टियों के शामिल होने की बात सामने आई है।
loading...

सरकार दे रही घर बैठे 50 हजार कमाने का मौका, कोई भी कमा सकता है-किसी डिग्री की जरूरत नहीं है


मोदी सरकार ने ग्रामीण भारत में इंटरनेट पहुंचाने के लिए भारतनेट नाम का प्रोजेक्ट शुरू किया है।
loading...
इस प्रोजेक्ट के तहत 2.5 लाख ग्राम पंचायत को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जाएगा। इस प्रोजेक्ट के लिए 1 छोटा सा काम करके आप 50 हजार रुपए कमा सकते हैं।​​​​​​​

लोगो तैयार करना होगा :
सरकार इस प्रोजेक्ट के लिए लोगो तैयार करवा रही है। यदि आप डिजाइनिंग में माहिर हैं तो आप भारतनेट प्रोजेक्ट के लिए लोगो तैयार कर सरकार को भेज सकते हैं। इसे ऑनलाइन ही सबमिट किया जा सकेगा। इसे तैयार करने के नियम व शर्तें तय हैं। उन्हीं के तहत लोगो आपको तैयार करना होगा।

कितना इनाम मिलेगा :
जिसका लोगो सबसे अच्छा होगा उसे 50 हजार रुपए का इनाम मिलेगा। इसके अलावा संतोषजनक काम करने पर 10-10 हजार रुपए दिए जाएंगे। यह राशि 5 लोगों को मिलेगी।

loading...

 

उड़ी से भी बड़ा आतंकी हमला, CRPF के काफिले के 42 जवान शहीद

14 फरवरी, 2019. शाम के करीब 3 बजकर 20 मिनट हो रहे थे. इसी वक्त जम्मू -कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के एक बड़े काफिले पर हमल...